गेहूँ

प्रकार:  
प्राकृतिक फसलें
गेहूं.

भोपाल में गेहूं मुख्य फसल में से एक है। 2018-19 में गेहूं का कुल बोया गया क्षेत्रफल रकबा  125216 हेक्टेयर है।

“शरबती” गेहू देश में उपलब्ध गेहूं की सबसे प्रीमियम किस्म है। शरबती गेहू की क्षेत्र में बहुतायत में पैदावार की जाती है । क्षेत्र में एक काली और जलोढ़ उपजाऊ मिट्टी है जो शरबती गेहू के उत्पादन के लिए उपयुक्त है। शरबती गेहू को द गोल्डन ग्रेन भी कहा जाता है, क्योकि इसका रंग सुनहरा होता है यह हथेली पर भारी लगता है और इसका स्वाद मीठा होता है इसलिए इसका नाम शरबती है। जैसा कि नाम से पता चलता है, शरबती किस्म का गेहूँ टेस्ट में थोड़ा मीठा होता है, शायद अन्य गेहूँ की किस्मों की तुलना में इसमें ग्लूकोज और सुक्रोज़ जैसे सरल शर्करा की मात्रा अधिक होती है।

मध्य प्रदेश में शरबती गेहूं सीहोर, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, हरदा, अशोकनगर, भोपाल और मालवा क्षेत्र सहित कई जिलों में बहुतायत में होता है।

अलग पहचान : संपूर्ण देश में अपनी विशिष्ट चमक, वजन व स्वाद के लिए प्रसिद्ध है यह गेहूं।